Prasar Bharati

“India’s Public Service Broadcaster”

Pageviews

KEY MEMBERS – AB MATHUR, ABHAY KUMAR PADHI, A. RAJAGOPAL, AR SHEIKH, ANIMESH CHAKRABORTY, BB PANDIT, BRIG. RETD. VAM HUSSAIN, CBS MAURYA, CH RANGA RAO,Dr. A. SURYA PRAKASH,DHIRANJAN MALVEY, DK GUPTA, DP SINGH, D RAY, HD RAMLAL, HR SINGH, JAWHAR SIRCAR,K N YADAV,LD MANDLOI, MOHAN SINGH,MUKESH SHARMA, N.A.KHAN,NS GANESAN, OR NIAZEE, P MOHANADOSS,PV Krishnamoorthy, Rafeeq Masoodi,RC BHATNAGAR, RG DASTIDAR,R K BUDHRAJA, R VIDYASAGAR, RAKESH SRIVASTAVA,SK AGGARWAL, S.S.BINDRA, S. RAMACHANDRAN YOGENDER PAL, SHARAD C KHASGIWAL,YUVRAJ BAJAJ. PLEASE JOIN BY FILLING THE FORM GIVEN AT THE BOTTOM.

Thursday, May 5, 2016

आकाशवाणी मुम्बई में DDG (E) श्री सुधीर सोधिया ने किया डॉ. आम्बेडकर के तेल चित्र का विधिवत अनावरण...


आज दिनांक 5 मई 2016 को आकाशवाणी मुम्बई में बाबासाहब डॉ. भीमराव आम्बेडकर के तेल चित्र का विधिवत स्थापन आकाशवाणी मुम्बई के केन्द्राध्यक्ष व उपमहानिदेशक अभि. श्री सुधीर सोधिया द्वारा ​किया गया इस अवसर पर उपमहानिदेशक कार्यक्रम श्रीमती शैलजा सुमन, संयुक्त निदेशक समाचार श्री एम झेड आलम एंव बडी संख्या में अधिकारी कर्मचारी भी मौजूद थे ।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए श्री सुधीर सोधिया ने कहा कि आज आकाशवाणी में डॉ. आम्बेडकर के इस तेल चित्र का विधिवत स्थापन और अनावरण करते हुए बेहद खुशी महसूस हो रही है । बाबासाहब का यह तेलचित्र हमें उनके कार्यौं और उनकी शिक्षाओं को याद दिलाता रहेगा । आपने कहा कि बीएच के प्रवेंश द्वार के पास लगा यह चित्र यहॉं हर आने जाने वाले लोगों को बाबासाहब से प्रेरणा लेने को प्रेरित करेगा ।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए उपमहानिदेशक कार्यक्रम श्रीमती शैलजा सुमन ने कहा कि बाबासाहब के कार्य हम सबके लिए प्रेेरणा ​दायी है । इसी दौरान आपने बाबासाहब के जीवन का एक रोचक वाकया भी सुनाया । 

संयुक्त निदेशक समाचार श्री एम झेड आलम ने कहा कि बाबासाहब ने देश को एक नियमबद्ध राह पर चलने का रास्ता दिखाया है आपने जो संविधान देश को सौंपा है वह अपने आप में अप्रतिम है । 
कार्यक्रम का संचालन डॉ. संतोष जाधव ने किया एवं आभार प्रदर्शन वरिष्ठ अन्वेषक श्री प्रवीण नागदिवे ने किया ।
Blog Report-Praveen Nagdive,AIR Mumbai


रचना : नौकरी के अनुभव और चाय पीने की आदत ने दिलाई मुफ़्त में एक नई कार !


पाठकों ,आपको कुछ अटपटा या फिर कुछ चटपटा सा लग सकता है मेरी इस रचना का टाइटल ।लेकिन ,यह मेरी जिन्दगी का एक रोमांचक सच है जिससे मैं आपको रू -ब- रू करा देना चाहता हूँ ।इसलिए भी कि 'न जाने किस घड़ी में जिन्दगी की शाम हो जाए..!' यह वाकया जिन दिनों का है उन दिनों मुझे आकाशवाणी की समूह 'ग' सेवा में प्रसारण अधिशासी पद पर आए लगभग डेढ़ दशक हो चुके थे ।शिफ्ट की नौकरी होने के कारण चाय मेरी जिन्दगी में धूम धड़ाके से शामिल हो चुकी थी ।जिस केंद्र पर कैन्टीन सुविधा होती वहाँ तो इस बाबत बल्ले बल्ले हुआ करती थी !

कुछ विभागीय तकनीकी कारणों से (प्रमुखत: आल इंडिया सीनियारिटी लिस्ट का न बन पाना और डी० पी० सी० न हो पाना ) लगभग 14 साल की सेवा के बाद मेरा चिर प्रतीक्षित समूह 'ख' संवर्ग में प्रमोशन कार्यक्रम अधिकारी पद पर वर्ष 1991में हुआ ।मैंने महानिदेशक को गोरखपुर में ही नया पदभार देने अथवा लखनऊ भेजने का निवेदन भेजा जिसका उत्तर नहीं आया और येन केन प्रकारेण गोरखपुर न छोड़ने वाले इस नाचीज़ को मुश्किल से मिले प्रमोशन को लेने के लिए आकाशवाणी रामपुर जाना ही पड़ा ।29 अक्टूबर 1991 को मैने वहाँ कार्यभार ग्रहण किया । रामपुर से दिल्ली नज़दीक होने के कारण मैंने अपने पूर्व के निवेदन के रेफरेंस में गोरखपुर वापसी पैरवी में जुट गया ।मेरे साथ लगभग लाइलाज शारीरिक दिक्कतें(एनकाइलाजिंग स्पांडिलाइटिस/ बोथ हिप ज्वाइंट रिप्लेसमेंट) भी विधाता ने दे रक्खी हैं इसलिए मुझे परिवार के साथ रहने की मजबूरी रहा करती थी ।बहरहाल, आकाशवाणी के मक्का मदीना (महानिदेशालय, नई दिल्ली) में एस-1 में डी० डी० ए०(पी०) बेहद सख़्त मिजाज वाले एक जनाब ईश्वर लाल भाटिया साहब हुआ करते थे ।
लेकिन मेरे लिए तो वे यथानाम तथागुण निकले ।मुझसे बोले कि उन्होंने मेरा revised order लखनऊ के लिए कर दिया है ।आर्डर नहीं मिला क्या ? असल में मुझे लखनऊ में RTI(P) के लिए एक पेक्स के नवसृजित जगह पर पोस्टिंग मिली थी।मेरे यह कहने पर कि आर्डर नहीं मिला और मैने तो रामपुर ज्वाइन भी कर लिया है ,वे बोले सेक्शन आफिसर को जाकर बोलो फाइल तुरंत लेकर आएं । आनन फानन में जनाब राजमोहन साहब फाईल सहित पहुँच कर हाथोंहाथ पुनः संशोधित आर्डर देने को विवश हुए ।मैने 13 दिसम्बर 1991 को आकाशवाणी लखनऊ रिपोर्ट किया ।वहाँ के 'आका ' के चहेते कुछ पेक्स अंडर ट्रांसफर थे और उसी में चूँकि मैं भी एक अनचाहे मेहमान की तरह आ टपका था सो मुझे पहले तो वेकेंसी न होने के नाम पर हफ्तों लटकाया गया, फिर न चाहकर एक्सट्रा प्लेयर की तरह पिछली तारीख से ही ज्वाईन कराया गया ।ऐसे में न कमरा मिला और.. न ही काम ।इससे मुझे थोड़ा मानसिक टेंशनज़रूर था (क्योंकि मैं अपने आपको बेहद कामकाजी मानता था) लेकिन ढेर सा आराम मिला !दैनिक कार्यक्रम मीटिंग से मुक्ति बोनस में !उन दिनों एक मैडम मिसेज बधवानीं हुआ करती थीं जो सहायक निदेशक थीं ।वे मुझको इस तरह 'आवारा ' घूमते ज्यादा दिन देख न सकीं और अंततः मेरी सहमति लेकर मुझे उस समय के 'आका' की इच्छा विरुद्ध पेक्स लाइब्रेरी बना ही दिया ।बस, नियति जो करती है अच्छा ही करती है ,मेरा ऐसा मानना है ।अब मैने स्वयं उनकी सहमति से लाइब्रेरी के ही एक उपेक्षित कमरे की साफ सफाई और रंगरोगन करवाया और उसी में बैठना शुरू कर दिया ।मेरे मित्र मुझे 'आवारा बादल 'कहकर बुलाते थे ।लेकिन आपको बताना लाजिमी होगा कि इस अवसर का लाभ भी मैनें खूब उठाया ।अपनी 36साल की नौकरी में मैने सबसे ज्यादा किताबें अगर पढ़ीं और अपने शौकिया लेखन को उड़ानें दीं तो इसी दौर में ।हां, जाने अनजाने कुछ "ईमानदार गुस्ताख़ियाँ" भी हुईं जिनका खामियाजा एक अन्य पदस्थ सहायक निदेशक बाबू मोशाय का कोपभाजन बन आगे चलकर मुझे दूसरे केन्द्र पर भुगतना पड़ा.. ...लेकिन वह प्रसंग फिर कभी ! इन बेजुबान किताबों ने मेरे हिस्से के अधूरेपन को ही नहीं दूर किया बल्कि मेरे लिए ज्ञान गंगा बहा दी ।उधर चाय की आदत भी शबाब पर थी ।इस पूरे 'टेन्योर ' को मैंने अपनी ज्ञान संपदाओं के विकास और उसकी समृद्धि में बिताया ।इसके बाद एक बार फिर मुझे मेरा मंजिल -ए -मकसूद मिल गया और 17जुलाई 1993 को मैने आकाशवाणी गोरखपुर ज्वाइन कर लिया ।
इसी कालखंड में देश की एक प्रतिष्ठित कम्पनी ने अपने चाय उत्पाद के लिए अखिल भारतीय स्तर पर खुली स्लोगन प्रतियोगिता अंग्रेज़ी में आयोजित की थी । उसके उत्पाद के खाली पैकेट के साथ अपनी प्रविष्टि उनके कोलकाता स्थित कार्यालय साधारण डाक से भेजनी थी ।मैने इसे अपनी चाय के प्रति समर्पित निष्ठा और पिछली पोस्टिंग में अर्जित ज्ञान गंगा के उपयोग के लिए सुअवसर समझा ।बी० ए० की पढ़ाई में हिन्दी के साथ अंग्रेज़ी साहित्य में भी मैंने सफलता के झंडे गाड़े थे और अब उन सबकी असली परीक्षा थी ।इतना ही नहीं उन्हीं दिनों प्राइमरी चैनल पर विज्ञापन भी आने लगे थे और मुझे उनके सुचारू प्रसारण हेतु भी लगा दिया गया था ।इसलिए भी कि यह एकदम नया काम था और थोड़ी सी चूक में पैसा वसूली की सीधी लाइबिलिटी बननी थी और इसके लिए "बने रहो पगला ,काम करे अगला " की टेंडेंसी में केन्द्र के प्रभावी ग्रुप ने मुझे ही आगे कर दिया था ।भला हो श्री हरीश सनवाल साहब और श्री के० के० श्रीवास्तव का जो लखनऊ से फोन पर पर्याप्त गाइडेंस दिया करते रहे और मेरे प्रति हमदर्द बना रहा करते थे ।सो, विचलन से बचते हुए काम होता रहा और बैठे बैठे किसी भी प्राडक्ट के कैचिंग प्रेजेंटेशन से भी अवगत हुआ जा रहा था ।चायपत्ती के मेरे प्रस्तावित स्लोगन में यह सब खाद पानी की माफिक काम आया ।मैने यथानिर्दिष्ट तरीके से अपनी प्रविष्टि भेज दी थी और कामकाज के दबाव में लगभग भूल ही गया था ।एक और बात थी कि अक्सर अपना प्राडक्ट बेंचने के लिए प्रलोभन कारक इस तरह के फ्राड भी हुआ करते थे ।

लेकिन यह क्या ?एक दिन मेरे लैंडलाइन फोन नम्बर (जो अब तक याद है 0551-2334871)पर कोलकाता से एक बाबू मोशाय ने मुझे बताया कि उस प्रतियोगिता में मेरे स्लोगन को one of the best entry पाया गया है और उसके ऐवज में एक कार इनाम में भेजी जा चुकी है जो शहर के शोरूम में पहुंच चुकी है और मैं यथाशीघ्र उनके बताए गए पते पर उनके प्रतिनिधि से अपनी आइडेंटिटी प्रूफ की ओरीजिनल कापी के साथ मिलूं ।मैं खुशी से उछल ऊछल पड़ा और जब मैं उनके प्रतिनिधि से मिलने अपने स्कूटर से पहुँचा तो वे बताने लगा कि कम्पनी महीनों से आपसे सम्पर्क करना चाह रही थी क्योंकि शहर में एक दर्जन पी० के० त्रिपाठी इनाम के दावेदार हो चुके थे ।सिर्फ आपके घर के पते और फोन नम्बर से कम्पनी आप तक पहुंच सकी है ।वैसे वह भी भौचक थे और बोले जनाब आपने क्या ऐसा लिख डाला जो आपको बैठे बिठाए गाड़ी मिल रही है ?मैने उन्हें सारे पेपर्स दिखाए तो उन्होंने शोरूम जाकर गाड़ी का दीदार करने को कहा ।मैं सपरिवार गाड़ी देखने पहुँचा तो हम समी के दिल गार्डन गार्डन हो गये ।मैनेजर ने बताया कि मुझे सिर्फ रजिस्ट्रेशन और रोड टैक्स(उस समय लगभग 15 हजार ) भरना है । फिर यह तय हुआ कि 9जून 2003 को एक समारोह में कार की चाभी सौंपने की औपचारिकता निभाई जाय ।कुल आई 20 हजार प्रविष्टियों में मेरी प्रविष्टि one of the best पाई गई ।आज मेरे यादगार लमहों में कम्पनी का वह पत्र अब भी मुस्कान बिखेर रहा है,जिसमें लिखा है-
Dear Mr. Tripathi,
It gives us immense pleasure to inform you that you are one of the winners of the Tata Tea contest that was held in October-November 2001.Our judges spent a lot of time painstalingly going through each one of the 20,000 entries we received for the contest. And your entry - " If you dont think everyday is a good day ,just try Tata Tea " was adjudged one of the three best entries. And as promised ,we are sending you the Tata Indica .Here's wishing you happy yea times and happy driving ! 
"आकाशवाणी गोरखपुर के तत्कालीन निदेशक श्री प्रेम नारायण की अध्यक्षता में 9 जून 2003 को प्रेस क्लब में एक शानदार आयोजन हुआ और गोरखपुर के विधायक डा० राधामोहन दास अग्रवाल ने मुझे कम्पनी की ओर से कार की चाभी सौंपी ।इस अवसर पर अति प्रसन्न चित्त मेरे दोनों बेटे ,पत्नी और माता पिता भी मौजूद थे ।अगले दिन मैं और मेरी इनामी कार सचित्र समाचार पत्रों की सुर्खियों में छा गए थे ।इनाम तो मुझे बहुत मिलते रहते थे (और हैं भी) लेकिन इतना बड़ा और कीमती इनाम पहली बार मिला था ।इस प्रकार की उपलब्धि (भौतिक ही सही ) मेरे जीवन की कुछ स्वर्णिम उपलब्धियों में से एक है ,जो आज भी हम सबके लिए प्रेरणास्रोत बन सकता है ।अपने नये प्रसारणकर्मी साथियों से कहना चाहूँगा कि सेवाकाल में मिलने वाली धूप छांव को अगर सकारात्मक रूप दे दिया जाय तो वह भी निजी उपलब्धियों का हेतु बन सकता है । तो जीवन की ढलान पर चलते हुए एक बार फिर कहना चाहूँगा -थैंक्यू आकाशवाणी, थैंक्यू उन दिनों के मेरे 'आका'गण ....और हां, थैंक्यू मेरी प्यार भरी चाय की प्याली ,जिसने मुझे बेहतरीन कार इनाम में दिलवा दी जो आज भी मेरी मुस्कुराहट में साथ देती है ।
ब्लॉग रिपोर्ट - श्री. प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी, लखनऊ; मोबाइल नंबर 9839229128. darshgrandpa@gmail.com

Hon'ble Minister of J&K, Our former Announcer visits Akashvani Jalandhar


On 03.05.16 Sh.Syeed Busharat Bukhari Minister of Revenue and rehabilitation JK Government visted AIR Jalandhar.He also worked with AIR about 6 and half year As Announcer .Shared sweet memories with Sh.Rishi Kapoor DDE, AD(P) Dr.M.T.Abaasi and Santosh Rishi Programme Executive along with all the staff members.

Contributed by :- Shri. Gurvinder Singh ,sandhugvs@gmail.com

Akashvani Imphal - Speech of Labour Minister on May Day


Labour Minister of Manipur Shri Manga Vaihpei came AIR Imphal to give a message to the people of Manipur on the occasion of International Laborours Day. Mrs Thangneikim Fimate Pex.co, Kumari Bijaya Yumlembam Pex ,Shri Heikrujam Devendra Singh Pex and Smt.N.Roma Devi Pex were present on this occasion. 

Contibuted by :- Smt. L.Vedanti ,Devi AD(OL) AIR,Imphal

Plantation Drive at AIR Kargil to celebrate Birth Anniversary of Dr. Bhim Rao Ambedkar










Children of the State should be aware of teachings of the Great Visionary and Social Leader, Dr Bhim Rao Ambedkar, which help them value human life and humanity. This was stated by Chairman J&K Legislative Council Haji Anayat Ali on the occasion of 125th Birth Anniversary Celebrations of Dr Bhim Rao Ambedkar at All India Radio Kargil. Haji Anayat told that he wonders how a great leader like Ambedkar thought about the welfare of women, labourers and socially backward people besides laws for social welfare much before India got independence. On this occasion Haji Anayat Ali, Chairman J&K Legislative Council was the Chief Guest, who threw light on the teachings of Dr Bhim Rao Ambedkar.

It is only the vision of Dr Ambedkar that people of far-off areas like Ladakh got the fruits of social and economic upliftment through constitutional provision extended, Haji Anayat added. Later a Plantation Drive was also observed on this occasion which was inaugurated by Chairman J&K Legislative Council Haji Anayat Ali by planting a tree in the Campus of AIR Colony. The Plantation Drive was organized in collaboration with the Department of Forest under its Institutional Scheme and more than 300 Plants were planted in All India Radio Kargil.On this occasion Head of Office AIR Kargil Suresh Kumar, Engineering Head Onkar Singh, Ranger Forest Department Mohammad Ilyas, News Editor Anayat Ali, Senior Announcer Mohammad Hassan Askari, Forester Shabir Hussain, Staffs and Family Members of All India Radio were also present.

Contributed by :- RNU AIR Kargil  , air.kargil@gmail.com

WELCOME NEW MEMBERS

Name
MEGHNAD HALDER
City of residence
Designation
Phone
Email
How can you contribute

Name
KAKDWIP
Listener/Viewer
9093310278   
meghnadhalder2015@gmail.com    Inform others to join

RAJENDRA C. DESAI
City of residence
YAVATMAL
Designation
Assistant Engineer
Phone
How can you contribute
9420878393
Inform others to join   

Name

R C DAHIYA
City of residence
Designation
Phone
Email
How can you contribute
CHANDIGARH
Assistant Engineer
9417311424
rcdahiya46@gmail.com
Write for betterment of PB

Name

MONO MOHAN DAS
City of residence
GUWAHATI
Designation
Phone
Email
How can you contribute
SEA  
9864506984
dasmonomohan5@gmail.com
Inform others to join

Name

R S GHULE
City of residence
Designation
Phone
Email
How can you contribute
JALGAON
Assistant Engineer /HOO  
9890808717
rsghule65@yahoo.in
Write for betterment of PB

Name

  BAISHNA PATTNAIK
City of residence
Designation
Phone
Email
Date of Birth
How can you contribute
  BHUBANESWAR
  Listener/Viewer   
  8984196558
  baishna@gmail.com
  02 10 2005  
  Inform others to join

If You too want to join PB Parivar Blog,

 just click HERE

Dogri Kavi Gosthi by Radio Kashmir Jammu












Bhaguna, Samba:The setting, Village of a poet departed more than five decades ago, in the presence of his wife and all other family members. The scene , a Kavi Goshthi organised by Radio Kashmir Jammu. The twist in the tale, narration of a poem by the poet himself, that the audience listed to only after a gap of 50 years. The effect, stream of tears rolling down the eyes of many. It was pure nostalgia when Radio Kashmir Jammu organised a Dogri kavi Gosthi in fond memory of Dogri poet Charan Singh at his native Village Baghuna in Rajinder Pura. Prof. Lalit Magotra read a well researched paper on the life of the poet who achieved great literary heights in a short span of only 28 years. The event was attended by a large number of prominent citizens of the place and organised in a historic set up of Brigadier Rajinder Singh Park, another hero of the area, who is lauded as the Saviour of Kashmir.

The paper reading session was followed by the Kavi gosthi in which eleven poets of various genres mesmerised the audience with the skilful rendering of their choicest poems. The event lasted for almost two hours and the arena kept on swelling with more and more public by every passing minutes. Station Director Radio Kashmir Jammu Sh.V.K.Sambyal informed the gathering that the station has embarked upon the ambitious plan of honouring our greats at their native place in order to take our past to the future generations. The poets who participated in the programme included, Dr.Smt.Usha Vyas, Promila Manhas, Smt.sunita Badwal, Sh.rajinder Singh Raipuria, Sh.Bishan Singh Dardi, Sh.Vijay Sharma,Sh.Sita Ram Sapolia, Sh.Gyaneshwar Singh, and Sh. Sanjay vidrohi. Sh Mohan Singh conducted the proceedings of the Gosthi. The p[rogramme was anchored by Smt.Anjana Badyal, wheras Sh.Nitish Arora and Sh.Rajesh Gupta alongwith Sh.Chunni lal Sharma represented the team of Radio Kashmir Jammu that organised this event with the support of local panchayat of the block.

Sh.Yog Raj Singh , an 87 years old native and an associate of Kavi Charan Singh, who retired as chief conservator of forests was the chief guest on the occasion . The event was also graced by Maj.Gen Govardhan Singh Jamwal (rtd.) and many other prominent citizens. An event that will remain etched in the memories of everyone present on the occasion.

Contributed by :- Shri. V K Sambyal ,'Rangeeley Thakur' Station Director  sdrkjammu@gmail.com

Lecture by Shril R.Murali in Lions Club - Dharmapuri on "Magical Airwaves".




The Lions Club of Dharmapuri Town, Tamil Nadu arranged for an elite talk on "Magical Airwaves" on 03/05/2016. Shri.R.Murali, Programme Executive (Co-ordination) of AIR FM LRS Dharmapuri, Tamilnadu was invited as chief guest. Shri.R.Murali enlightened the audience about the birth of FM Radio and its subtle reach-out to the common man of the town to the business community widely gathered in the meeting. It was well received by the audience.

Contributed by :- PEX AIR DHARMAPURI ,airdpiprog@gmail.com

Wednesday, May 4, 2016

Interview with the first SC,ST Commission Chairperson of Andhra Pradesh Sri Karem Sivaji





AIR Vijayawada recorded interview with the first SC,ST Commission Chairperson of Andhra Pradesh Sri Karem Sivaji on 4-5-2016 for broadcast on 5-5-2016 at 7.30 am. He explained the initiative of Centre and State governments for promotion of dalith youth for studies abroad and dalith entrepreneurs, land pattas, land allocation etc.

Contributed by :- Krishnakumari Munjuluri ,mkk.munjuluri1@gmail.com

5 months of Daily Motivational Capsule for staff at AIR Pune


Since 1st December 2015, Akashvani Pune staff invests 5 minutes in the morning for a motivational capsule at it's conference room. Day begins with a 3 minute motivational video in hindi ( easily grasped by our MTF friends) followed by 2 minutes of silence. This helps in creating a focused and composed approach for the staff so that they can give out their best for the organisation in the day.

The man behind this mission is Shri Ravindra Ranjekar, AE who invests hours of his personal time to search and collect these motivational videos and plays them for the benefit of staff and organisation with Shri SM Chaudhary AE every morning.

PB Parivar Blog Membership Form